प्रदूषण मुक्त दिवाली पर 10 लाइन निबंध | 10 Lines On Pollution Free Or Safe Diwali In Hindi

दिवाली एक ऐसा पर्व है जिसे हिंदू धर्म के लोग बहुत ही धूमधाम से मनाते हैं लेकिन दीवाली मनाने के समय वह इस बात का ध्यान नहीं रखते हैं कि हमारे पर्यावरण में किस-किस चीजों के उपयोग से प्रदूषण फैल सकता है। आज के इस आर्टिकल के माध्यम से दूषण मुक्त दिवाली पर 10 लाइन के बारे में हम जानेंगे।

ताकि हम जब भी दिवाली खेले तो इन बातों का ध्यान रखें और हम दिवाली भी अच्छे से खेले और हम अपने पर्यावरण को दूषित भी ना करें। क्योंकि पिछले कुछ सालों में यह देखा गया है कि सबसे ज्यादा प्रदूषण दिवाली के दिन ही होता है। चलिए जानते हैं 10 Lines On Pollution Free Or Safe Diwali In Hindi के बारे में।

10 Lines On Pollution Free Or Safe Diwali In Hindi

प्रदूषण मुक्त दिवाली पर 10 लाइन निबंध

  1. दिवाली में हम जिन पटाखों का इस्तेमाल करते हैं उन पटाखों से कई तरह की हानिकारक गैसे निकलती है जिन गैस की वजह से हमारा पर्यावरण दूषित होता है और हमें कई तरह की बीमारियां हो सकती है।
  2. जो पटाखे हम दिवाली में छोड़ते हैं उन पटाखों की वजह से हमारे आसपास के जीव जंतु बहुत ही घबरा जाते हैं और कई बार तो हमारे द्वारा छोड़ा गया पटाखा आसपास के जीव जंतुओं के ऊपर गिर जाता है जिसके कारण से वह चोटिल हो जाते हैं।
  3. दिवाली के बड़े-बड़े पटाखों से सिर्फ जीव जंतु ही नहीं घबराते हैं बल्कि उन पटाखों से छोटे बच्चे भी घबरा जाते हैं और अगर कोई छोटा बच्चा उन पटाखों को फोड़ने जाता है तो छोटे बच्चे के हाथ में भी पटाखा फुट सकता है।
  4. अगर हम दिवाली जैसे त्योहारों को प्रदूषण मुक्त बनाना चाहते हैं तो हमें पटाखों का इस्तेमाल कम से कम करना चाहिए।
  5. हमें वैसे पटाखों का इस्तेमाल करना चाहिए जो कि ज्यादा आवाज ना करें और उन पटाखों से धूआ ना निकले। हमें छोटे-छोटे पटाखे छोड़ने चाहिए।
  6. दिवाली में घर को सजाने के लिए रंगी हुए चावल की जरूरत पड़ती है और उस रंगे हुए चावल में जो रंग रहता है वह केमिकल युक्त रहता है तो हमें इस बात का ध्यान रखना है कि केमिकल मुक्त रंग का इस्तेमाल करना है।
  7. दिवाली के दिन हमें अपने घर को फूलों और दियो से सजाना चाहिए।
  8. हम जिस पैसे से दिवाली के दिन पटाखे खरीदते हैं उन पैसों से हम नए नए कपड़े खरीद कर गरीब बच्चों को दान कर सकते हैं।
  9. दिवाली के दिन हमें तरह-तरह के पटाखे छोड़ने की जगह पर जीव जंतुओं को खाना देना चाहिए।
  10. दिवाली में रंगोलियां बनाई जाती है तो हमें रंगोलियां बनाते हुए यह संदेश सबको देना है कि हम प्रदूषण मुक्त दिवाली मनाएं।

इन्हें भी पढ़े : –

10 Lines On Pollution Free Or Safe Diwali in Hindi

  1. हमारी उपयोग किए गए पटाखों से तरह-तरह के हानिकारक गैस फैलते हैं।
  2. हमारे द्वारा उपयोग किए गए पटाखों से हमारे आसपास के जीव जंतुओं को चोट लग सकती है।
  3. दिवाली में अगर बड़े-बड़े पटाखे छोड़ जाए तो छोटे बच्चे को भी इस दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।
  4. हमें दिवाली में पटाखों का उपयोग कम से कम करना होगा।
  5. अगर हमें पटाखों का इस्तेमाल करना पसंद है तो हम कम आवाज करने वाला पटाखों का इस्तेमाल करे।
  6. दिवाली में हम जिस रंग का उपयोग करते हैं तो हम केमिकल मुक्त रंग का उपयोग करें।
  7. हमें अपने अपने घरों को दिवाली के दिन दियो से और तरह तरह के फूलों से सजाना चाहिए ताकि हमारा घर सुंदर लगे।
  8. दिवाली में हमें गरीब बच्चों को कपड़े देने चाहिए।
  9. दिवाली के दिन हमें आसपास के भूखे जंतुओं को खाना भी देना चाहिए।
  10. हमें तरह-तरह की रंगोली बनाकर लोगों को यह प्रेरणा देनी चाहिए कि लोग प्रदूषण मुक्त दिवाली मनाएं।

प्रदूषण मुक्त दिवाली पर 5 लाइन

  1. हमारे द्वारा उपयोग किए गए पटाखे जो दिवाली में होते हैं उनसे काफी तरह-तरह के हानिकारक गैस खेलते हैं जिनसे हमारी शरीर की स्वास्थ्य भी कमजोर हो सकती है।
  2. हम जिन पटाखों का इस्तेमाल दीपावली में करते हैं उन पटाखों से आसपास के जीव-जंतुओं को भी चोट लग सकती है।
  3. दिवाली में बड़े-बड़े पटाखों से छोटे-छोटे बच्चे को भी चोट लग सकती है।
  4. अगर हम प्रदूषण मुक्त दिवाली देखना चाहते हैं तो हमें पटाखों का उपयोग बहुत ही कम करना होगा।
  5. हमें उस तरह के पटाखों का इस्तेमाल करना चाहिए जो की ज्यादा आवाज ना करें और ज्यादा धुआ भी ना करें जिससे वायु प्रदूषण भी ना फैले और ध्वनि प्रदूषण भी ना करें।

प्रदूषण मुक्त दिवाली पर 5 लाइन

  1. दिवाली में हम चावलों को जिस कलर से रंगते हैं वह कलर केमिकल वाला होता है हमें केमिकल मुक्त कलर का उपयोग करना है।
  2. हमें अपने घर को दिवाली के दिन फूलों और दिनों से सजाना चाहिए ताकि हमारा घर दिखने में सुंदर लगे।
  3. जिस पैसे को हम पटाखे खरीद कर बर्बाद कर देते हैं अगर हम उन पैसों से किसी गरीब बच्चे का कपड़ा खरीदे तो वह बहुत ही पुण्य का काम होगा।
  4. दिवाली के दिन जब हम पटाखे छोड़ते हैं तो हमें पटाखे छोड़ने के अलावा इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि आसपास के जीव-जंतुओं को हम खाना भी खिलाएं।
  5. हमें दिवाली के दिन रंगोली बनाकर लोगों को यह प्रेरणा देनी होगी कि सभी लोग प्रदूषण मुक्त दिवाली मनाएं।

इन्हें भी पढ़े : –

निष्कर्ष – दोस्तों हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताया कि 10 Lines On Pollution Free Or Safe Diwali In Hindi ताकि आप प्रदूषण मुक्त दिवाली बना सकें। उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा और इसमें दी गई सारी जानकारी आपको अच्छे से समझ में आ गई होगी। अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया और इसमें दी गई सारी जानकारी अच्छे से समझ में आ गए तो आप इसे अपने दोस्तों रिश्तेदारों और आप सोशल मीडिया पर जरुर शेयर करें।

Leave a Comment