योग के महत्व पर निबंध | Essay on Importance of Yoga in Hindi

नमस्कार दोस्तों आप सभी का स्वागत है, हमारे इस लेख में योग के महत्व पर निबंध दी गई है, जिससे आप सभी जान सकते हैं कि आप सभी के जीवन में योग का कितना महत्व है, तथा योग से मिलने वाले लाभ के बारे में भी जान सकते हैं।

योग आप सभी के लिए बहुत उपयोगी और महत्वपूर्ण है इसलिए यह विषय पर निबंध हम आपके समक्ष शेयर कर रहे हैं ताकि आप सभी योग के महत्व को जान सकें और यह लेख सभी विद्यार्थियों के लिए भी उपयोगी हो सके,

अक्सर स्कूल और कॉलेज में विद्यार्थियों को योग के महत्व पर निबंध लिखने के लिए दिया जाता है तथा योग के महत्व पर प्रोजेक्ट वर्क भी दिया जाता है आप सभी विद्यार्थी इस लेख के माध्यम से आसानी से अपना प्रोजेक्ट वर्क कर सकते हैं तथा निबंध लेखन भी लिख सकते हैं।

योग के महत्व पर निबंध 1

प्रस्तावना

योग का अभ्यास कई लोगों के द्वारा किया जाता है तथा पुराने जमाने के ऋषि मुनि भी योग का अभ्यास करते थे अर्थात योगाभ्यास पुराने समय से ही चला आ रहा है, योग एक प्रकार का व्यायाम है जो प्रत्येक व्यक्ति के सेहत को स्वस्थ रखता है तथा विभिन्न प्रकार के लाभ प्राप्त कराता है।

मनुष्य के द्वारा योग का अभ्यास सेहतमंद रहने और विभिन्न रोग एवं क्षमता से छुटकारा प्राप्त करने के लिए किया जाता है, तथा कई डॉक्टरों के द्वारा भी मरीजों को योग का अभ्यास करने का सलाह दिया जाता है क्योंकि इससे जो बीमारी दवाइयों से ठीक नहीं होती वह भी ठीक होने लगती हैं।

योग ध्यान लगाने की एक मजबूत और महत्वपूर्ण विधि है, जो हमारे मन और शरीर को बहुत आराम देती है, हमारे संपूर्ण विश्व में वर्तमान समय में योग विकसित हो चुका है तथा लाखों लोगों के द्वारा योग और व्यायाम किया जाता है। योग को मेडिटेशन के नाम से भी जाना जाता है, इसका संपूर्ण विश्व में लगभग 2 अरब लोगों से भी अधिक लोगों के द्वारा अभ्यास किया जाता है।

योग मनुष्य के शरीर और मन तथा आत्मा को शांत रखने में बहुत मददगार साबित होता है, तथा इनके अलावा योग करने से हमारे शरीर पर भी नियंत्रण होता है और हम मानसिक रूप से भी संतुलित रहते हैं तथा हमारी मानसिक अनुशासन की नियंत्रण क्षमता भी बढ़ती है।

योग का महत्व

हम सभी के जीवन में योग का बहुत महत्व होता है, योग करके हम अपने जीवन के सभी तनाव को कम कर सकते हैं, आज के वर्तमान समय में कई लोग तनाव के कारण डिप्रेशन में चले जाते हैं, योग डिप्रेशन में रहने वाले लोगों के लिए बहुत फायदेमंद है, योग करके लोग अपने तनाव को दूर कर सकते हैं अधिकतर जो लोग तनाव में होते हैं उन्हीं के द्वारा योग का अभ्यास किया जाता है।

तनाव में रहने वाले लोगों के लिए योग का अभ्यास बहुत लाभदायक सिद्ध होता है। जो व्यक्ति तनाव में रहता है वह अच्छे से नींद नहीं ले पाता, तनाव में रहने के कारण व्यक्ति के सिर में दर्द होने लगता है तथा गर्दन और पीठ में भी दर्द होने लगती है, इन सभी भयंकर बीमारियों से छुटकारा पाने के लिए योग का अभ्यास किया जा सकता है।

योग के अभ्यास से इन सभी बीमारियों से मुक्ति प्राप्त की जा सकती है, क्योंकि योग इन सभी बीमारियों को दूर करने में काफी अच्छा और महत्वपूर्ण साबित होता है। योग हमें मानसिक और शारीरिक तथा अध्यात्मिक, और समाजिक विकारों से दूर करता है।

योग से लाभ

योग का नियमित रूप से अभ्यास करने से हमारे शरीर को विभिन्न प्रकार का लाभ मिलता है, जो हमारे सेहत के लिए बहुत फायदेमंद साबित होता है हम सभी को अपने जीवन में प्रतिदिन योग करना चाहिए और इससे मिलने वाले विभिन्न प्रकार के लाभ को प्राप्त करना चाहिए।

युग हमारे शरीर के आसन को ठीक करता है, तथा योग करने से हमारे सभी आंतरिक अंग मजबूत हो जाते हैं और हम शारीरिक रूप से भी स्वस्थ रहते हैं। हम सभी नियमित रूप से योग करके अस्थमा और विभिन्न प्रकार की बीमारियों से दूर रह सकते हैं।

नियमित रूप से योग करने से अस्थमा के मरीज में काफी सुधार हो सकती हैं, तथा योग करके डायबिटीज का मरीज भी अपने डायबिटीज को कम कर सकता है और योग करने से लचीली मांसपेशियों में भी सुधार आती है।

योग करने से दिल से संबंधित समस्याएं भी दूर होती हैं योग करके हम अपने शरीर को चिंता मुक्त और तनावमुक्त कर सकते हैं, योग हमारे शरीर को एकाग्र करता है जिससे हमारी एकाग्रता की शक्ति में भी वृद्धि होती है।

योग करके हम अपने मोटापे को भी घटा सकते हैं और जिन लोगों के वजन लगातार बढ़ते जा रहे हैं, वे अपना वजन कम कर सकते हैं। योग करने से शक्ति और सहन शक्ति भी बढ़ती है।

योग से स्वास्थ्य पर प्रभाव

स्वस्थ व्यक्ति अपने जीवन में सभी कार्य कर सकता है जबकि और स्वस्थ व्यक्ति किसी भी कार्य को नहीं कर पाता, क्योंकि स्वस्थ व्यक्ति के पास बहुत ज्यादा ऊर्जा होती है। वर्तमान में हम सभी के वातावरण और आसपास बहुत ज्यादा प्रदूषण होते रहते हैं, जिसके कारण हम सभी बहुत तनाव में रहते हैं।

हमें तनाव से मुक्त होने के लिए सुबह प्रातः काल में उठकर 10 से 20 मिनट तक योग करना चाहिए, योग करने से हमारा शरीर तनाव से दूर हो जाता है और हमारे शरीर की कई समस्याएं भी दूर हो जाती है।

उपसंहार

योग हम सभी के शरीर के लिए महत्वपूर्ण होता है, हम अपने जीवन में योग का अभ्यास करके कई सारी समस्याओं से दूर रह सकते हैं और योग हमारे ध्यान को केंद्रित करने में भी सहायक होता है। योग का अभ्यास प्रतिदिन करके हम एक सफल व्यक्ति बन सकते हैं हम सभी को प्रातः काल योग का अभ्यास करना चाहिए।

वर्तमान में कई लोगों के द्वारा योग का अभ्यास किया जा रहा है जिससे लोग विभिन्न प्रकार की बीमारियों से छुटकारा प्राप्त कर रहे हैं, योग करने से मन और आत्मा को भी नियंत्रित किया जा सकता है। योग हमें शारीरिक और मानसिक दोनों रूपों से संतुलन को बनाए रखने में सहायक होता है।

अन्य निबंध लेख :-

योग के महत्व पर निबंध 2

प्रस्तावना

योग ध्यान को केंद्रित करने में बहुत सहायक होता है, और हमें विभिन्न प्रकार के रोगों से भी मुक्ति दिलाता है। योग हमारे शरीर को आराम दिलाने में बहुत सहायक साबित होता है जिसके कारण दुनियाभर के लाखों लोग अपने शरीर को आराम दिलाने के लिए योग करते हैं।

योग एक अभ्यास है जो हमारे मानसिक और शारीरिक तथा आध्यात्मिक क्षेत्र के विकास में सहायक होता है, और हमारे मानसिक संतुलन पर नियंत्रण बनाए रखता है, जो हमारे गुस्से को भी काम करता है और मन को शांत बनाता है। योग करने से हमारे मांस पेशियों के लचीलेपन में सुधार आता है, जिससे हमें विभिन्न प्रकार के दर्द को नहीं सहना पड़ता है।

योग का अर्थ और उत्पत्ति

योग संस्कृत के यज् धातु से बना है, जिसका अर्थ संचालित करना, सम्मिलित करना, संबंध करना और जोड़ना होता है। शरीर और आत्मा के मिलन को योग कहा जाता है, योग की उत्पत्ति हमारे भारत देश में लगभग 500 ईशा पूर्व में हुआ है। पहले महर्षि पतंजलि को योग का प्रणेता कहा जाता था।

योग का उत्पत्ति हमारे भारत देश में ही हजारों साल पहले हुआ था, ऐसी मान्यता है कि शिव पहले योगी या आदियोगी है, हजारों साल पहले हिमालय में कंटीसारोकर झील के तट पर आदि योगी जी ने अपने ज्ञान को महान सात ऋषियों के साथ साझा किया था, क्योंकि इतनी ज्ञान की प्राप्ति से और योग के द्वारा कोई भी व्यक्ति पूर्ण रूप से निरोगी बन सकता है।

योग दिवस

योग करने से दुनिया के प्रत्येक व्यक्ति को लाभ मिलता है, और यह भारत का लक्ष्य है। योग से सभी व्यक्तियों को लाभ मिलता है जिसके कारण भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने 21 जून 2015 को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की थी, तब से प्रत्येक वर्ष 21 जून को योग दिवस के रूप में मनाया जाता है।

योग दिवस के अवसर पर सभी स्कूल और कॉलेजों में भी बच्चों से योग कराया जाता है, और बच्चों को योग के महत्व को बताया जाता है योग करने से विभिन्न प्रकार की लाभ मिलती है जिससे सभी बच्चे अवगत होते हैं।

योग का महत्व

योग को पहले के समय केवल आयुर्वेदिक रूप में ही महत्व दिया जाता था परंतु वर्तमान समय में वैज्ञानिक रूप से भी योग को महत्व दिया जाता है, कई मरीजों को डॉक्टरों के द्वारा ही योग करने का सलाह दिया जाता है क्योंकि योग करने से हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक शक्ति बढ़ती है और शरीर रोगमुक्त बनता है।

योग को मनुष्य का शारीरिक और मानसिक उपचार कहा जाता है क्योंकि इसके माध्यम से लोगों की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और लोग विभिन्न प्रकार के बीमारियों से दूर रहते हैं, योग हमारे मन की एकाग्रता को भी बढ़ाता है जिससे हम किसी भी कार्य को करते समय एकाग्र होकर कर सकते हैं।

उपसंहार

योग मनुष्य के जीवन को विभिन्न प्रकार की बीमारियों से बचाने और सुखी रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। योग से हमें अनगिनत फायदे होते हैं, योग हमारे शरीर को स्वस्थ रखता है और मन को भी नियंत्रित करके रखता है, योग एक ऐसी क्रिया है जिसके द्वारा मनुष्य अपने मन और मस्तिष्क को नियंत्रण में रख सकता है।

योग करके मनुष्य स्वस्थ जीवन यापन कर सकता है और बहुत सारे लाभ प्राप्त कर सकता है जो जीवन जीने के लिए बहुत आवश्यक होती है। हम सभी को बेहतर जीवन जीने के लिए योग करना चाहिए और योग के महत्व को सभी लोगों को समझना चाहिए।

योग करने का सबसे अच्छा सुबह का प्रातः काल होता है तथा सूर्यास्त से पहले भी योग का अभ्यास किया जा सकता है, योग करने के लगभग आधे घंटे के बाद ही हमें भोजन करना चाहिए। योग करते समय हम सभी को ध्यान में रखना चाहिए कि हमें सही तरह से सांस लेना चाहिए और सही तरह से साथ छोड़ना चाहिए।

अन्य निबंध लेख :-

निष्कर्ष –

उम्मीद करती हूं दोस्तों आप सभी को हमारा यह लेख पसंद आएगा तथा आपके लिए ज्ञानवर्धक और उपयोगी साबित होगा, यदि आप सभी को यह लेख पसंद आए तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें।

अधिकतर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ)

योग करने का सबसे अच्छा समय कौन सा होता है ?

योग करने का सबसे अच्छा समय प्रात काल और सूर्योदय के पहले का समय होता है, जब वातावरण में शांति होती हैं। हमें योग खुली स्थानों पर करना चाहिए इससे हमें ज्यादा लाभ मिलता है।

विश्व योग दिवस कब मनाया जाता है ?

विश्व योग दिवस प्रत्येक वर्ष 21 जून को मनाया जाता है, योग दिवस के अवसर पर प्रत्येक जगहों पर लोगों के द्वारा योग किया जाता है तथा स्कूल और कॉलेज में भी बच्चों और शिक्षक शिक्षिकाओं के द्वारा योग का अभ्यास किया जाता है।

योग करने के कोई दो फायदे बताइए ?

योग करने से हमारी स्मरण शक्ति बढ़ती है, तथा हम तनाव से भी मुक्त हो सकते हैं। योग विभिन्न प्रकार की बीमारियों जैसे अनिद्रा, तनाव, थकान, उच्च रक्तचाप, और चिंता आदि को दूर करता है, तथा इसके अलावा हमारे शरीर को ऊर्जावान भी बनाता है।

योग की आवश्यकता क्यों होती है ?

योग मनुष्य को विभिन्न प्रकार की बीमारियों से दूर रखता है तथा इसके साथ ही मनुष्य में बेहतर सोच और सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न करता है।

Leave a Comment