मेरे सपनों का भारत पर निबंध | Essay on My Dream India in Hindi

नमस्कार दोस्तों आप सभी का स्वागत है हमारे वेबसाइट में आज हम आपके लिए मेरे सपनों का भारत पर निबंध लेकर आए हैं जो सभी विद्यार्थियों के निबंध लेखन में सहायक और ज्ञानवर्धक साबित होगा, तथा प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए भी सहायक साबित होगा।

मेरे सपनों का भारत पर निबंध

प्रस्तावना

भारत देश एक ऐसा देश है जो विभिन्न प्रकार के संस्कृति और परंपराओं से परिपूर्ण है जहां के लोग विभिन्न संस्कृति और धर्म को मानने वाले होते हैं और आपस में सद्भाव की भावना से रहते हैं परंतु आज भी कई देश के हिस्से ऐसे हैं जहां लोगों में जाति, धर्म के नाम पर भेदभाव किया जाता है। मेरे सपनों का भारत एक ऐसा भारत होगा जहां देश के किसी भी हिस्से में किसी भी जाति और धर्म में भेदभाव नहीं किया जाएगा।

मेरे भारत देश ने वर्तमान समय में कई क्षेत्रों में बहुत तेजी से तरक्की किया है वर्तमान में भारत देश में विज्ञान और प्रौद्योगिकी तथा शिक्षा, और विभिन्न क्षेत्रों में विकास किया है अर्थात भारत देश विकासशील देश की श्रेणी में आता है और मुझे मेरे सपनों के भारत देश को पूरी तरह से विकसित देश के रूप में देखना है।

मैं पूरी तरह से विकसित देश के रूप में भारत देश का सपना देखती हूं और मैं हमेशा से अपने सपनों के देश भारत देश को सभी क्षेत्र में पूर्ण रूप से विकसित होते हुए देखना चाहती हूं जो ना केवल किसी एक क्षेत्र में उत्कृष्ट बनेगा बल्कि अपने सांस्कृतिक और परंपरा को भी बनाए रखेगा तथा संपूर्ण क्षेत्र में उत्कृष्ट बनेगा।

हमारे भारत देश में विभिन्न प्रकार के संस्कृति हैं, विभिन्न प्रकार का भाषा, विभिन्न प्रकार के वेशभूषा धारण करने वाले लोग रहते हैं परंतु इन सभी में आपस में सद्भाव का भावना व्याप्त होता है इस प्रकार से मेरे सपनों का देश बहुत खूबसूरत देश है परंतु कई कारणों से कभी-कभी देश के कुछ क्षेत्रों में भेदभाव भी देखने को मिलता है मैं अपने सपनों के भारत देश में इन सभी बुराइयों को समाप्त करना चाहती हूं।

मेरे सपनों का भारत देश

भारत देश में लोग भाईचारे की भावना से एक दूसरे के साथ रहते हैं यहां विभिन्न प्रकार की संस्कृति और परंपराएं देखने को मिलती है जो सभी लोगों को बहुत मनोरम लगती है और यहां की संस्कृति तथा परंपरा को देखने के लिए विदेशों से भी लोग आते हैं। मेरे सपनों का भारत देश को मैं विश्व के सबसे ऊंचे स्तर पर देखना चाहती हूं और भारत देश का पूर्ण रूप से विकास देखना चाहती हूं।

मेरे सपनों का भारत सभी लोगों को एक समान अधिकार देता है जहां किसी भी धर्म जाति में या लिंग में भेदभाव नहीं किया जाता है यहां सभी नागरिकों को अपना बात रखने का अधिकार प्राप्त है, मेरे सपनों के भारत देश में सभी नागरिक किसी के समक्ष भी अपनी बात रख सकते हैं तथा अपने अधिकार के लिए लड़ सकते हैं इनके अलावा विभिन्न प्रकार के अधिकार लोगों को दिए गए हैं।

भारत देश को आदर्श देश बनाने में सुधार

शिक्षा

भारत देश में कई हिस्सों में आज भी शिक्षा का अभाव है और शिक्षा का अभाव राष्ट्र के विकास में मुख्य रूप से बाधा उत्पन्न करता है इसलिए सरकार को शिक्षा के महत्व के बारे में जागरूकता फैलाने का प्रयास करना चाहिए और वर्तमान समय में सरकार के द्वारा शिक्षा का प्रचार-प्रसार भी किया जा रहा है।

शिक्षा के क्षेत्र में योगदान देने के लिए हम सभी को भी लोगों में जागरूकता लाने का प्रयास करना चाहिए तथा प्रत्येक माता-पिता को अपने बच्चों को शिक्षित करने के लिए उन्हें स्कूल और उच्च स्तर का शिक्षा देना चाहिए और शिक्षा के महत्व को अशिक्षित लोगों को भी बताना चाहिए।

गरीबी

गरीबी भारत देश का सबसे बड़ा समस्या है जिसके कारण देश में आर्थिक असमानताएं भी उत्पन्न हो जाती हैं। भारत देश में जो व्यक्ति अमीर है वह दिन प्रतिदिन और अमीर होते जा रहा है तथा जो व्यक्ति गरीब है वह और गरीब बनते जा रहा है और मैं ऐसे भारत देश का सपना देखती हूं जहां धन का वितरण समान रूप से सभी नागरिकों में किया जाना चाहिए और किसी भी अमीर या गरीब में भेदभाव नहीं किया जाना चाहिए।

रोजगार

भारत देश में अच्छे रोजगार की कमी है अर्थात यहां रोजगार के अवसर बहुत कम मिलते हैं जबकि यहां के लोग योग्य है उनमें नौकरी करने की योग्यता अच्छी हैं इसके बाद भी लोगों को नौकरी नहीं मिल पा रही है लोग रोजगार पाने में असमर्थ है जिसके कारण लोगों में बेरोजगारी की समस्या देखी जाती है। बेरोजगारी के कारण लोगों के बीच असंतोष और अपराध की भावना उत्पन्न हो जाती है।

लोगों के बीच असंतोष की भावना उत्पन्न हो जाती है जिससे लोग अक्सर सड़कों और कई जगहों पर अपराध करते हुए नजर आते हैं और मेरे सपनों का भारत एक ऐसा भारत होगा जो सभी लोगों को बराबर रोजगार का अवसर प्रदान करेगा जिससे देश में विभिन्न प्रकार के अपराधिक गतिविधियां कम होंगी तथा जिससे हमारे देश के विकास और सुधार के प्रति भी काम किया जा सकेगा।

जातिवाद

जातिवाद भारत देश का एक गंभीर मुद्दा है जिसमें सुधार लाने के लिए सरकार तथा देश के प्रत्येक नागरिक को प्रयास करना चाहिए क्योंकि यह मुद्दा बहुत गंभीर मुद्दा बनता जा रहा है जो देश के विकास और लोगों के बीच भेदभाव करता है। मेरे सपनों का भारत एक ऐसा भारत होना चाहिए जहां लोगों में जाति, धर्म में भेदभाव ना किया जाए।

लिंग भेदभाव

मेरे सपनों का भारत एक ऐसा स्थान होना चाहिए जहां लिंग अर्थात स्त्री और पुरुष में भेदभाव ना किया जाए उन्हें समान रूप से अधिकार दिया जाए तथा जिस प्रकार से पुरुषों को रोजगार और अन्य क्षेत्रों में अधिकार दिया जाता है उसी प्रकार महिलाओं को भी सभी क्षेत्र में अधिकार मिलना चाहिए। स्त्री और पुरुष के कार्य के बदले एक समान वेतन दिया जाए तथा उनको समान रूप से महत्व दिया जाए।

उपसंहार

मेरे सपनों का भारत भ्रष्टाचार मुक्त भारत होना चाहिए जहां राजनीतिक नेता अपने स्वार्थ को पूरा करने के अलावा देश की सेवा के लिए समर्पित हो और देश के विकास के लिए अपना महत्वपूर्ण योगदान दें ,ना कि स्वयं के आवश्यकताओं की पूर्ति करने में लगे रहे।

मेरे सपनों का भारत एक ऐसा देश है जहां विभिन्न जाति, धर्म के लोग सद्भाव से रहते हैं। मेरे सपनों के भारत देश में सरकार को सभी लोगों को समान रोजगार प्राप्त कराना चाहिए तथा उन्हें प्रत्येक क्षेत्र में एक समान महत्व दिया जाना चाहिए।

अन्य निबंध लेख :-

मेरे सपनों का भारत पर निबंध 2

प्रस्तावना

मेरे सपनों का भारत एक ऐसा देश होगा जो देश के प्रत्येक नागरिक को एक समान रोजगार का अवसर प्राप्त कराएगा, और यह एक ऐसा स्थान है जहां जाति धर्म के बीच किसी भी प्रकार का भेदभाव नहीं किया जाएगा, तथा पुरुषों के समान महिलाओं को रोजगार के क्षेत्र में अवसर प्रदान करेगा। वर्तमान समय में स्त्रियां प्रत्येक क्षेत्र में पुरुषों के समान अपना योगदान दे रही हैं।

हमारे भारत देश में वर्तमान में महिलाएं पुरुषों के समान सभी क्षेत्रों में अपना योगदान दे रही है परंतु देश में आज भी बहुत से लोग हैं जो स्त्रियों को पुरुषों के समान योग्य नहीं समझते और ना महिलाओं का सम्मान करते हैं और महिलाओं तथा पुरुषों में भेदभाव किया जा रहा है। महिलाओं को आज भी भारत देश के कई हिस्सों में केवल घरेलू कार्य के लिए ही योग्य माना जाता है।

मेरे सपनों का भारत की विशेषताएं

मेरे सपनों का भारत बहुत विशाल देश है जहां सभी धर्म जाति और संप्रदाय के लोग आपस में एकजुटता तथा सद्भावना से निवास करते हैं। यहां देश के सभी नागरिकों को अपने बातों को किसी के भी सामने रखने का अधिकार प्राप्त है। मेरे सपनों का भारत एक ऐसा देश होना चाहिए जहां के सभी लोग शिक्षित हो और विशेष रूप से महिलाओं के शिक्षा स्तर को बढ़ावा दिया जाए।

मेरे सपनों का भारत में सभी नागरिकों को मूल अधिकार मिलना चाहिए और शिक्षा ग्रहण करना प्रत्येक नागरिक का अधिकार होना चाहिए, क्योंकि जब हमारे देश के नागरिक शिक्षित होंगे तभी हमारे देश के विकास के लिए अच्छा कार्य कर सकेंगे, जब मेरे सपनों के भारत देश में महिला और पुरुष में भेदभाव समाप्त होगा तभी देश के जनसंख्या में भी नियंत्रण किया जा सकता है।

मेरे सपनों के भारत में व्याप्त कुरीतियों को दूर करने का उपाय

हमारे देश में वर्तमान समय में कई ऐसी बुराइयां है जिसके कारण देश का शांति भंग हो रहा है और लोगों में दंगे फसाद होते रहते हैं। देश में कई सरकारी कर्मचारी ऐसे होते हैं जो किसी भी कार्य को करवाने के लिए रिश्वत लेते हैं और यदि रिश्वत नहीं दिया जा रहा है तो सरकारी कर्मचारियों के द्वारा कार्य नहीं किया जाता है मेरे सपनों के भारत में इन सभी बुराइयों को मैं समाप्त करना चाहती हूं।

देश में व्याप्त कुरीतियों को दूर करने के लिए देश में शिक्षा के स्तर को बढ़ावा देना बहुत आवश्यक है क्योंकि लोग शिक्षा के माध्यम से ही गलत सही का पहचान कर पाएंगे और देश में हो रहे भ्रष्टाचार तथा रिश्वतखोरी आदि का विरोध कर सकेंगे। हमारा भारत देश दिन प्रतिदिन प्रगति कर रहा है और यहां विभिन्न प्रकार की समस्याएं भी उत्पन्न हो रही हैं और मैं मेरे सपनों के भारत देश में इन समस्याओं को समाप्त होते हुए देखना चाहती हूं।

मेरे सपनों का भारत के निर्माण में ध्यान देने वाली आवश्यक बातें

मेरे सपनों का भारत के निर्माण में निम्न बातें आवश्यक है-

जाति और धर्म का भेदभाव समाप्त करना

वर्तमान समय में देश में कई जाति और धर्म के लोग रहते हैं जिनमें भेदभाव किया जाता है हालांकि कुछ वर्षों में जाति और धर्म में भेदभाव में थोड़ी कमी आई है परंतु आज भी कई क्षेत्रों में जाति धर्म के नाम पर भेदभाव किया जाता है मेरे सपनों के भारत के निर्माण में इन सभी भेदभाव जैसी कुरीतियों का समाप्ति होगा और सभी धर्म जाति के लोग एक साथ मिलकर देश के विकास के लिए अपना योगदान देंगे।

शिक्षा और जागरूकता

भारत देश आज भी अन्य देशों के अपेक्षा शिक्षा के क्षेत्र में बहुत पिछड़ा हुआ है यहां के लोग आज भी अनपढ़ और अशिक्षित है यदि हम सभी भारत देश को अपने सपनों का देश बनाना चाहते हैं तो हमें अपने सपनों का देश में शिक्षा के प्रति जागरूकता फैलाना होगा और देश के प्रत्येक नागरिक को शिक्षित बनाना होगा तभी देश के प्रत्येक नागरिक देश की प्रगति में अपना योगदान दे सकते हैं।

देश में शिक्षा प्राप्त करना प्रत्येक नागरिक का कर्तव्य है और शिक्षित व्यक्ति ही प्रतिभाशाली व्यक्ति बन कर राष्ट्र के विकास में अपना योगदान दे सकता है तथा देश के विकास के लिए विभिन्न प्रकार के कार्य कर सकता है और यदि हमारे देश के व्यक्ति या नागरिक शिक्षित होंगे तभी देश का विकास तेजी से हो सकेगा।

लिंग भेदभाव और महिलाओं पर होने वाले अत्याचार पर रोक लगाना

भारत देश में आज भी कई लोग लिंग भेदभाव के कारण बहुत तनाव में रहते हैं क्योंकि देश में लिंग भेदभाव अर्थात महिला और पुरुष में भेदभाव किया जा रहा है और यह कुप्रथा बहुत पुराने समय से चलता हुआ आ रहा है जिसके कारण देश में महिलाओं को पुरुषों के बराबर नहीं समझा जाता है और महिलाओं को स्वतंत्रता भी नहीं दी जाती है।

मेरे सपनों के भारत में देश के सभी महिला और पुरुषों को एक समान अधिकार दिया जाएगा तथा उन्हें अपने इच्छा के अनुसार जीवन जीने का अधिकार दिया जाएगा और मेरे सपनों के भारत में महिलाओं तथा पुरुषों को सभी कार्य क्षेत्र में एक समान योग्यता दिया जाएगा।

रोजगार के क्षेत्र में भी महिलाओं को पुरुषों के समान और सम्मान दिया जाएगा तभी हमारे देश में लिंग भेदभाव समाप्त होगा और यदि महिलाओ को रोजगार का अवसर प्राप्त होगा तो महिलाओं पर हो रही अत्याचार भी कम होंगी।

उपसंहार

हमारा भारत देश आजादी के बाद बहुत तेजी से प्रत्येक क्षेत्र में प्रगति कर रहा है परंतु आज भी विकासशील देश के श्रेणी में ही आता है और मेरे सपनों का देश एक ऐसा देश होगा जहां प्रत्येक क्षेत्र में विकास देखने को मिलेगा और पूर्ण रूप से शिक्षा विस्तृत होगा तथा विश्व के सभी लोग शिक्षित होंगे और शिक्षा का प्रत्येक क्षेत्र में प्रचार प्रसार किया जाएगा।

अन्य निबंध लेख :-

निष्कर्ष

उम्मीद है आप सभी को यह निबंध पसंद आएगी तथा आपके परीक्षाओं के दृष्टि से भी महत्वपूर्ण होंगी और इस निबंध के जरिए आपको विभिन्न प्रकार की बातें सीखने को मिलेंगी जो आपके जीवन में भी मददगार साबित होंगी।

अधिकतर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ)

मेरे सपनों का भारत कैसा होगा?

मेरे सपनों का भारत एक ऐसा भारत होगा जहां किसी से भी भेदभाव नहीं किया जाएगा अर्थात देश के किसी भी हिस्से में लिंग, जाति, धर्म और आर्थिक स्थिति के आधार पर लोगों में भेदभाव नहीं किया जाएगा।

मेरे सपनों का भारत का महत्व?

मेरे सपनों का भारत का अनेकों महत्व होगा, मेरे सपनों का भारत देश में महिलाओं को पुरुषों के बराबरी का दर्जा प्राप्त होगा और भारत देश बलात्कार, डकैती, बाल विवाह, महिला अत्याचार आदि बुराइयों से पूर्ण रूप से मुक्त होगा।

मेरे सपनों के देश भारत में व्याप्त कुरीतियां?

हमारे भारत देश में विभिन्न कुरीतियां व्याप्त है जिन्हें मैं मेरे सपनों के भारत देश में पूर्ण रुप से दूर करना चाहती हूं, यहां जातिवाद, लिंग भेदभाव, बेरोजगारी, गरीबी, अशिक्षा आदि की समस्याएं व्याप्त है।

Leave a Comment