आतंकवाद पर निबंध | Essay on Terrorism in Hindi

नमस्कार दोस्तों आप सभी का स्वागत है हमारे वेबसाइट में, आज हम आपके लिए आतंकवाद पर निबंध लेकर आए हैं जो आप सभी विद्यार्थियों के परीक्षाओं की दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण है।

इस निबंध के माध्यम से आपको आतंकवाद के बारे में जानकारी प्राप्त होगा और यदि आप सभी आतंकवाद पर निबंध की तलाश कर रहे हैं तो हमारा यह लेख आपके लिए ही है।

हमारे इस लेख को पढ़कर आप सभी विद्यार्थी आसानी से आतंकवाद पर निबंध लिख सकते हैं तथा इसके बारे में विस्तार पूर्वक जान सकते हैं।

आतंकवाद पर निबंध

प्रस्तावना

हमारे देश में आतंकवाद बहुत बड़ा समस्या बन चुका है, आतंकवादी समूह के लोग मुख्य रूप से लोगों के बीच डर और खौफ पैदा करते हैं तथा उनका उद्देश्य हमेशा लोगों के बीच आतंक पैदा करना होता है। आतंकवाद के कारण हमारे देश में तनाव और भय उत्पन्न हो जाता है, तथा आतंकवाद की समस्या के कारण जनहानि और धन हानि दोनों होती है।

आतंकवाद एक राष्ट्रीय मुद्दा है देश में आतंकवाद लाने के लिए मनुष्य के दिमाग का इस्तेमाल किया जा रहा है और लोगों को कमजोर बनाने के लिए आतंकवाद के माध्यम से लोगों को डराया तथा धमकाया जाता है। मनुष्य आतंकवाद के सकारात्मक परिणामों के कारण हिंसात्मक तरीके को अपनाते हैं जिससे राष्ट्र को बहुत नुकसान का सामना करना पड़ता है।

आतंकवाद देश के प्रत्येक युवाओं के विकास और वृद्धि को प्रभावित करता है, आतंकवाद देश के विकास में भी बाधा उत्पन्न करता है हमारे देश के बहुत से लोगों के द्वारा आतंकवाद का समर्थन किया जाता है जिससे लगातार आतंकवाद की समस्या बढ़ती जा रही हैं।

आतंकवाद लगभग सभी क्षेत्र में फैला हुआ है और यह बहुत घातक भी होता है इसमें लोगों को मारा जाता है तथा अपने अनुसार कार्य करवाया जाता है। आतंकवाद सरकार को भी गिराने के लिए मजबूर करती हैं, जिससे देश की शांति भी भंग हो सकती हैं।

आतंकवाद ‌

भारत देश में आतंकवाद बहुत ज्यादा नुकसान कर रही है, आतंकवाद में बहुत से लोग शामिल होते हैं जो गलत रास्तों का इस्तेमाल करके अपने अनुसार लोगों को काम करवाते हैं और अपने कार्यों को अंजाम देते हैं। हमारे भारत देश में भी आतंकवाद की समस्या घातक बनती जा रही है और कई सालों से हमारा देश आतंकवाद से लड़ रहा है।

आतंकवाद मनुष्यों के द्वारा ही फैलाया जाता है जो लोग आतंकवाद का साथ देते हैं उन्हें आतंकवादी कहा जाता है और हमारे हिंदुस्तान में सबसे ज्यादा आतंकवादी पाकिस्तान के सीमा रेखा से होते हैं।

आतंकवादी कई बार हमारे देश में घुसने की कोशिश करते हैं और कई बार हमारे देश के सैनिकों के द्वारा आतंकियों को रोक दिया जाता है परंतु कभी-कभी ऐसा परिस्थिति आ जाता है जब आतंकवादी हमारे देश के अंदर पहुंचने में कामयाब हो जाते हैं।

आतंकवादी हमारे देश में घुसकर लोगों को बंदी बना लेते हैं और अपने अनुसार कार्य करवाते हैं कभी-कभी बहुत से लोगों को बंदी बनाकर सरकार से भी अपने अनुसार कार्य करवाते हैं। आतंकवादी बहुत से लोगों को जान से मार देते हैं और यदि उनके अनुसार कोई भी कार्य नहीं किया गया तो आतंकवादी सभी लोगों को मारने लगते हैं।

हमारे देश की सीमा पर सैनिक हमेशा तैनात रहते हैं ताकि आतंकवादियों को हमारे देश में घुसने से रोक सकें क्योंकि आतंकवादी बहुत खतरनाक होते हैं और हमारे देश में घुसकर लोगों को मारने लगते हैं। हमारे देश के सैनिकों का बहुत महत्वपूर्ण भूमिका होता है देश के सैनिक आतंकवादियों को भारत में घुसने से रोकते हैं और उन्हें वही मार देते हैं।

आतंकवादियों से हमेशा हम मनुष्यों को नुकसान होता है तथा हमारे देश के कई व्यक्ति आतंकवादियों से अपने आवश्यकता की पूर्ति करने के लिए जुड़ जाते हैं परंतु इनका अंजाम बहुत बुरा होता है। आतंकवादियों के पास बहुत बड़े बड़े खतरनाक हथियार होते हैं जिससे आतंकवादी कहीं पर भी हमला कर सकते हैं।

आतंकवादियों का मुख्य कार्य निर्देश लोगों का हिंसा करना होता है और ज्यादातर आतंकवादी लोकतांत्रिक देश में अधिक देखने को मिलते हैं।

आतंकवाद का कारण

आतंकवादी हमेशा लोगों के बीच डर पैदा करना चाहते हैं, हमारे भारत देश में विभिन्न धर्मों के लोग एक साथ मिलकर रहते हैं और देश में शांति तथा सद्भाव की भावना बनी रहती है और वही हमारे देश और समाज में कई ऐसे लोग होते हैं जो लोगों के बीच दरार पैदा करना चाहते हैं और लोगों के बीच यह साबित करने की प्रयास करते हैं कि उनका धर्म दूसरे धर्म से श्रेष्ठ है।

आतंकवादी शांति और सद्भाव से रहने वाले लोगों के बीच डर पैदा कर देते हैं तथा लोगों के शांति और सद्भाव को बंद कर देते हैं। आतंकवाद के कारण कभी-कभी पैसे भी हो सकते हैं क्योंकि कई आतंकवादी अपने आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए लोगों को डरा धमका कर उनसे पैसा लेते हैं और नहीं देने पर लोगों को मार देते हैं।

जो लोग सरकार और देश की राजनीति व्यवस्था से असंतुष्ट होते हैं वे लोग भी आतंकवादी समूह में शामिल हो जाते हैं और हमारे भारत देश में इन आतंकवादियों को नक्सलवाद के नाम से भी जाना जाता है। भारत देश सामाजिक आर्थिक असमानताओं के लिए जाना जाता है जहां अमीर व्यक्ति और अमीर होते जा रहे हैं तथा गरीब व्यक्ति और गरीब होते जा रहे हैं।

गरीब वर्ग के व्यक्तियों में असमानता का भावना उत्पन्न हो जाता है जिसके कारण गरीब वर्ग के लोग अमीर वर्ग के लोगों को नष्ट करने के लिए आतंकवादी संगठनों में शामिल हो जाते हैं।

आतंकवाद का प्रभाव

आतंकवाद के प्रभाव के कारण आम जनता के बीच आतंक पैदा हो जाती है, आतंकवादियों के द्वारा जनता के बीच में आतंक मचाया जाता है। आतंकवादियों के द्वारा देश में विभिन्न प्रकार के विस्फोटक, फायरिंग और विभिन्न प्रकार के गतिविधियां को किया जाता है जिससे आम जनता में भय उत्पन्न हो जाता है।

आतंकवादियों के कारण कई लोग मर जाते हैं क्योंकि आतंकवादियों के बातों को जो व्यक्ति नहीं मानता उन्हें आतंकवादी जान से मार देते हैं और कई बार निर्दोष होने पर भी लोगों को मार दिया जाता है ताकि अन्य लोग डर कर उनके बातों को आसानी से मान लें, आतंकवादियों के प्रभाव के कारण जनता के बीच तनाव और चिंता का माहौल बन जाता है।

आतंकवादियों के डर से लोग अपने घर से निकलना बंद कर देते हैं, आतंकवादियों के द्वारा हमला किया जाता है उन क्षेत्रों में लोग जाने से डरने लगते हैं और लोगों की शांति व्यवस्था में भी तनाव और डर का माहौल बन जाता है। आतंकवादी संगठनों के आतंकवादी गतिविधियों के कारण भारत के पर्यटन उद्योग और शांति व्यवस्था पर भी बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है।

आतंकवाद के कारण भारत की अर्थव्यवस्था पर भी बहुत गहरा प्रभाव पड़ता है, कई भारतीय शहरों पर आतंकवादी हमलों का बहुत बुरा प्रभाव पड़ा है, जिससे धन और व्यवसाय में भी बहुत नुकसान हो जाता है। आतंकवादी हमलों के कारण देश में विभिन्न प्रकार की समस्या उत्पन्न हो जाती है।

राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय समस्या

आतंकवाद एक राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय समस्या बन चुकी है जो भारत देश की ही नहीं बल्कि पूरे देश की समस्या बनी हुई है। आतंकवाद वैश्विक स्तर का बहुत बड़ा समस्या है जो सभी राष्ट्र को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से प्रभावित करता है। विश्व में वर्तमान समय में यह समस्या लगातार बढ़ती जा रही है जिसके कारण आम जनता को विभिन्न प्रकार के समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।

कुछ लोगों के द्वारा आज भी आतंकवाद का समर्थन किया जा रहा है जो गरीब होते हैं और अपनी आवश्यकताओं की पूर्ति नहीं कर पा रहे होते हैं तथा ऐसे लोग जो अमीर व्यक्ति या सरकार से किसी भी प्रकार का बदला लेने का भावना रखते हैं ऐसे लोग आतंकवादी संगठनों में शामिल हो जाते हैं।

आतंकवादियों का उद्देश्य समाज में हिंसा के डर को फैलाना, राजनीतिक उद्देश्यों की प्राप्ति, किसी शहर को तबाह करना, तथा इनके अलावा आतंकवादियों का उद्देश्य आम जनता को परेशान करना होता है।

आप सब ने अक्सर देखा होगा बड़े बड़े मॉल, हॉस्पिटल, स्कूल आदि संस्थानों पर आतंकवादियों के द्वारा ज्यादा आक्रमण किया जाता है और इन्हीं लोगों के बीच डर पैदा किया जाता है। आतंकवादी लोगों के बीच डर पैदा करके सरकार से अपना मांग पूरा करवाने का कोशिश करते हैं।

आतंकवादी अपने आवाज को पहुंचाने के लिए लोगों को बंदी बनाते हैं और सोशल मीडिया तथा समाचार पत्र के द्वारा सरकार तक अपने बातों को पहुंचाते हैं, देश में आतंक मचाने के लिए मानव दिमाग का इस्तेमाल किया जाता है।

उपसंहार

आतंकवादी आतंकवाद फैलाने के लिए देश में विभिन्न प्रकार के कार्य करते हैं, आतंकवादी अपने बात को मनवाने के लिए आम जनता के लोगों को बंदी बनाते हैं और सरकार तक अपने बातों को पहुंचाते हैं जिससे सरकार के द्वारा मजबूरी में कभी-कभी आतंकवादियों के बातों को मान लिया जाता है।

वर्तमान में आतंकवाद लगभग सभी देशों में फैला हुआ है आतंकवाद बहुत खतरनाक समस्या है जिसमें आतंकवादियों के द्वारा अपने बातों को बनवाया जाता है और अपने अनुसार काम करवाया जाता है आतंकवाद सरकार को गिराने का भी काम करते हैं।।

हमारे देश में आतंकवाद के कारण बहुत नुकसान होता है आतंकवाद में शामिल होकर बहुत सारे लोग गलत रास्ते पर जाने लगते हैं जिससे हमारे देश को बहुत अधिक नुकसान होता है और देश के लोगों पर भी बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है।

हम सभी को आतंकवाद को कम करने के लिए अपने बच्चों को अच्छा शिक्षा देना चाहिए और उन्हें सही गलत में फर्क करने को समझाना चाहिए क्योंकि आतंकवाद एक ऐसा समस्या है जिसने ना केवल भारत देश को प्रभावित किया है बल्कि पूरे विश्व को प्रभावित किया है।

अन्य निबंध लेख :-

अधिकतर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ)

आतंकवाद क्या है ?

आतंकवाद एक ऐसी विचारधारा है जो राजनीतिक लक्ष्य की प्राप्ति के लिए बल या अस्त्र-शस्त्र में विश्वास रखती है। आतंकवाद में आतंकवादियों के द्वारा लोगों में डर, तनाव और चिंता का माहौल बनाया जाता है।

आतंकवाद के कारण बताइए ?

आतंकवाद का विभिन्न कारण होता है जिनमें बदला लेना, अधिक विकसित होने के कारण, अन्य देशों को अपना ताकत दिखाने या उन्हें डराने के लिए, तथा अन्य देश को विकसित होने से रोकने आदि आतंकवाद का कारण होता है।

आतंकवादी का प्रमुख उद्देश्य क्या होता है?

आतंकवादी समूहों का मुख्य उद्देश्य लोगों के बीच आतंक पैदा करना होता है।

Leave a Comment