लड़का लड़की एक समान पर निबंध

हेलो दोस्तों आप सभी का स्वागत है हमारे वेबसाइट में, आज हम एक बहुत ही महत्वपूर्ण टॉपिक लड़का लड़की एक समान पर निबंध लेकर आए हैं, जो हमारे समाज तथा देश के विकास के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है,

हम सभी को लड़का लड़की को एक समान मानना चाहिए और लड़कों के बराबर लड़कियों को अधिकार देना चाहिए।

लड़का और लड़की दोनों का समान अधिकार होता है, दोनों के योगदान से हमारे देश का विकास होता है, इस आर्टिकल में हम लड़का लड़की एक समान जैसे महत्वपूर्ण विषय के बारे में चर्चा करेंगे, यह सभी परीक्षाओं की दृष्टि से महत्वपूर्ण विषय है,

इसके बारे में सभी विद्यार्थियों तथा व्यक्तियों को पता होना चाहिए और अपने घर तथा समाज में लड़का लड़की को समान अधिकार देने के लिए लोगों में जागरूकता लाना चाहिए। चलिए हम आज के आर्टिकल को शुरू करते हैं.

Ladka Ladki Ek Saman Essay in Hindi

लड़का लड़की एक समान पर निबंध 1

प्रस्तावना:-

हम सभी मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है, हमारे समाज में लड़का और लड़की दोनों प्रजाति के लोग निवास करते हैं, हमारे समाज और देश को चलाने के लिए लड़का और लड़की दोनों का महत्वपूर्ण योगदान होता है,

हम सभी के जीवन में दोनों का महत्वपूर्ण अहमियत होता है, सभी लोगों को अपनी सोच में बदलाव लाना चाहिए और लड़के और लड़कियों को समान अधिकार का दर्जा देना चाहिए, लड़कियां लड़कों के समान सभी क्षेत्र में अपना योगदान दे रही हैं,

लड़कियों को समाज में लड़कों से कम माना जाता है तथा लड़कियों को केवल घर के कामों के योग्य समझा जाता है यह बिल्कुल भी गलत होता है ,लोगों को ऐसा सोच नहीं रखना चाहिए और लड़कियों को भी लड़कों के समान सभी क्षेत्र में अवसर प्रदान करना चाहिए।

वर्तमान काल में लड़कियां लड़कों से भी आगे बढ़ रही हैं, और लड़कों के समान सभी क्षेत्र में कार्य कर रही हैं । सभी लोगों को अपना सोच बदलना चाहिए और लड़कियों को कमजोर नहीं समझना चाहिए क्योंकि लड़कियों के बिना जीवन आगे नहीं बढ़ सकता है।

आज के वर्तमान युग में लड़कियां पढ़ लिखकर आगे बढ़ रही हैं और अपना और देश का नाम रोशन कर रही हैं, वर्तमान युग में लड़कियों को किसी भी क्षेत्र में लड़कों से कमजोर नहीं समझा जा सकता है।

सभी लड़कियों का यह कर्तव्य है कि उन्हें बाहर निकलकर लड़कों का मुकाबला करना चाहिए और समाज में जो लोग लड़कियों के लिए छोटी सोच रखते हैं उनके मानसिकता को बदलना चाहिए,

जिस प्रकार परिवार को चलाने के लिए लड़कों की आवश्यकता होती है उसी प्रकार लड़कियों की भी आवश्यकता होती हैं, लड़कियों को भी लड़कों के समान अपने सभी सपने साकार करने का अधिकार मिलना चाहिए,

तथा समाज में हो रहे लड़के और लड़कियों में भेदभाव को दूर करना चाहिए और सभी लड़के लड़कियों को एक समान अधिकार प्राप्त होना चाहिए।

प्राचीन काल में नारियों की स्थिति:-

प्राचीन काल में लड़के और लड़कियों को समान अधिकार प्राप्त थे, प्राचीन काल में कई वीरांगनाओं ने पुरुष योद्धाओं के समान रण क्षेत्र में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया, तथा प्राचीन युग में नारियों को पूजनीय माना गया, अर्थात जिस घर में लक्ष्मी का वास होता है.

उस घर में सभी देवी देवता निवास करते हैं ऐसा मान्यता था, और प्राचीन काल में लड़कियों को पुरुषों के समान दृष्टि से देखा जाता था, किसी भी प्रकार का भेदभाव नहीं किया जाता था।

नारी की स्थिति और पुरुष की सोच:-

समाज में जैसे-जैसे पुरुषों के सोच में बदलाव आते गया नारियों की स्थिति में बदलाव आने लगा, पहले लड़कियों को माता-पिता तथा समाज के द्वारा बोझ समझा जाता था,

और माता पिता लड़कियों का भ्रूण हत्या करवा देते थे, यह सभी लड़का और लड़कियों में भेदभाव के कारण होता था, परंतु आज के युग में सरकार के द्वारा लड़कियों के लिए बहुत प्रयास किया जा रहा और वर्तमान युग में लड़कियों को लड़कों के समान अधिकार देने का प्रावधान बनाया गया है।

अब लोग लड़कियों को बोझ नहीं समझते और लड़कियों के जन्म लेने पर भी परिवार में खुशियां मनाई जाते हैं, अर्थात वर्तमान में लड़कों के समान लड़कियों को भी अधिकार दिया जाने लगा है।

उपसंहार:-

हमें समाज में हो रही लड़के लड़कियों में भेदभाव की भावना को दूर करना चाहिए, और लड़कों के समान लड़कियों को भी महत्व देना चाहिए क्योंकि आज लड़कियां लड़कों के समान सभी क्षेत्र में अपना भूमिका निभा रही हैं,

लड़कियों को लड़कों के समान अधिकार देना चाहिए तथा जिस प्रकार लड़कों को कहीं भी आने-जाने का अधिकार दिया जाता है उसी प्रकार लड़कियों को भी बिना रोक-टोक के अधिकार देने चाहिए ताकि लड़कियां भी देश के प्रगति में अपना योगदान दे सकें और आत्मनिर्भर बन सकें।

इन्हें भी पढ़े : –

लड़का लड़की एक समान पर निबंध 2

प्रस्तावना:-

समाज में रहने वाले प्रत्येक व्यक्ति को समान अधिकार प्राप्त होना चाहिए, क्योंकि समाज में रहने वाले सभी व्यक्तियों को समान अधिकार की आवश्यकता होती है,

चाहे वह लड़का हो या लड़की सभी को समान अधिकार का दर्जा प्राप्त होना चाहिए, जिस प्रकार लड़कों को अधिकार दिया जाता है उसी प्रकार लड़कियों को भी अधिकार मिलना चाहिए बिना किसी भेदभाव के, आज के वर्तमान युग में भी कई स्थानों पर लड़का और लड़कियों में भेदभाव किया जाता है.

और लड़कियों को लड़कों के बराबर अधिकार नहीं दिया जाता है ऐसे लोगों को अपने सोच बदलना चाहिए और लड़कियों को लड़कों के समान मानना चाहिए।

समानता का महत्व:-

हमारे देश का विकास तभी हो सकता है जब हमारे देश में लड़के और लड़कियों को सभी क्षेत्र में समान रूप से अधिकार दिया जाएगा, अर्थात देश के विकास के लिए लड़के और लड़कियों दोनों का बहुत ही महत्व होता है,

हमें लड़के और लड़कियों के बीच भेदभाव नहीं करना चाहिए तभी हमारे समाज तथा देश का विकास हो सकता है, लड़कियों को भी लड़कों के समान शिक्षा, रोजगार, स्वतंत्रता आदि सभी में समान अधिकार मिलना चाहिए।

लड़के और लड़कियों को समान रूप से राजनीतिक और आर्थिक रूप से शिक्षा और स्वास्थ्य में समान अधिकार देना चाहिए, समानता के कारण हमारे देश का बेहतर विकास होता है.

और लड़कियों को भी देश के प्रति कार्य करने का मौका मिलता है जिसके कारण लड़कियां आत्मनिर्भर होकर किसी भी क्षेत्र में रोजगार प्राप्त कर सकती हैं और अपने परिवार को भी चला सकती हैं।

आज के युग में लड़कों के द्वारा किए जा रहे कार्य के समान लड़कियां भी कार्य कर सकती हैं लड़कियां किसी भी क्षेत्र में लड़कों से कम नहीं है बल्कि लड़कों से आगे बढ़ रही हैं,

आज के वर्तमान युग में लड़कियां परिवार के साथ साथ बड़ी -बड़ी जिम्मेदारियां भी संभाल रही हैं और अपना योगदान दे रही हैं, किंतु आज भी कुछ ऐसे देश है जहां लड़कियों को लड़कों के समान अधिकार नहीं दिया जाता उन्हें भेदभाव की नजर से देखा जाता है और पेट में ही लड़कियों का हत्या कर दिया जाता है,

ऐसी परिस्थिति में हमें आज भी लोगों को जागरूक करने की आवश्यकता है जिससे वह लड़कियों को बोझ ना समझें और लड़कों के समान सभी क्षेत्र में आगे बढ़ने का अवसर प्राप्त कराएं, सरकार ने लड़कियों को लड़कों के समान अधिकार प्राप्त कराने के लिए बहुत प्रयास किया है जिसके कारण लड़कियां आज शिक्षित होकर देश के प्रगति के लिए अग्रसर हो रही हैं और सभी क्षेत्र में अपना योगदान देकर लड़कों से भी आगे निकल रही हैं।

उपसंहार:-

हमारे घर, समाज और देश की प्रगति में लड़कियों का भी महत्वपूर्ण योगदान होता है इसलिए लड़कियों को लड़कों के समान अधिकार देना चाहिए और जो लोग लड़कियों को लड़कों के समान नहीं मानते उन्हें जागरूक करना चाहिए ।

आज हमारे देश की उन्नति लड़कियों के बिना नहीं हो सकती है। लड़कों के साथ-साथ देश की उन्नति के लिए लड़कियों की भी आवश्यकता होती है, क्योंकि लड़कियां लड़कों के समान कार्य कर रही है और हॉस्पिटल, शिक्षा संस्थान तथा सभी स्थानों पर अपना भूमिका निभा रही हैं.

जिससे हमारा देश अग्रसर हो रहा है तथा विकास के मार्ग में निरंतर बढ़ते जा रहा है। सरकार को लड़के और लड़कियों में भेदभाव करने वाले लोगों के लिए कठोर नियम बनाए जाने चाहिए जिससे समाज में लड़के और लड़कियों में भेदभाव ना किया जाए और लड़कियों को भी लड़कों के समान अधिकार दिया जाए।

सम्बंदित निबंध : –

Leave a Comment