बाल श्रम या बाल मज़दूरी पर 10 निबंध | 10 Lines on Child Labour in Hindi

बाल श्रम छोटे बच्चे द्वारा किया जाने वाला काम को कहते हैं इसमें 14 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को जबरदस्ती काम करवाया जाए तो वह बाल श्रम के अंदर आता है।

तो जानेंगे बाल श्रम के बारे में कुछ जानकारियां बने थे कि आज तक हमारे साथ हो जाने पूरी जानकारी।

Lines on Child Labour in Hindi

10 lines on child labour in Hindi

  1. 14 से कम उम्र के बच्चों से किसी भी स्थान पर काम करवाना बाल मजदूरी कहलाता है ।
  2. पूरे विश्व में 12 जून का दिन हर साल “विश्व बाल श्रम दिवस” के रूप में मनाया जाता है ।
  3. भारत में बाल श्रम अधिनियम ( act ) को बच्चों के अधिकारों की रक्षा के लिए 10 साल पहले पेश किया गया था।
  4. बाल श्रम समाज की गंभीर बुराइयों में से एक है।
  5. बालश्रम बच्चों के द्वारा अपने बाल्यकाल में किया गया श्रम या काम है जिसके बदले उन्हें मजदूरी दी जाती है।
  6. बाल श्रम की सबसे ज्यादा संख्या अफ्रीका में है. यहां 7.21 करोड़ बच्चे बाल श्रम करते हैं।
  7. वर्ष 2006 में हुए शोध के अनुसार, लगभग 76 मिलियन बच्चों ने स्कूल का चेहरा ही नहीं देखा है।
  8. पूरे विश्व में बाल मजदूरी का कारण गरीबी और स्कूल की कमी है ।
  9. भारतवर्ष से बालश्रम को पूर्णतः समाप्त करने का संकल्प लेने वाले श्री कैलाश सत्यार्थी को वर्ष 2014 में नोबेल पुरस्कार दिया गया था ।
  10. भारत में बाल मजदूरी कराने पर धारा 24 के तहत् 1 या 2 साल की जेल भुगतनी पड़ेगी और 20000 से 50000 तक दंड भरना पड़ेगा ।

10 lines child labour par Hindi me

  1. बाल मजदूरी एक ऐसा कार्य है जो कम उम्र वाले बच्चों से काम करवाया जाता है।
  2. यदि १५ के ऊपर वर्ष के बीच का कोई व्यक्ति काम कर रहा है तो वह बाल श्रम नहीं है।
  3. बाल मजदूरी बच्चों के सामान्य बचपन, एक उचित शिक्षा और शारीरिक और मानसिक कल्याण का अवसर छीन लेता है।
  4. माना जा रहा है कि आज १३ मिलियन से भी ज्यादा बच्चे भारत में बाल मजदूरी के शिकार हैं।
  5. भारत में बाल मजदूरों की इतनी अधिक संख्या होने का मुख्य कारण सिर्फ और सिर्फ गरीबी है।
  6. बाल मजदूरी को रोका जा सकता है यदि हम बच्चों को काम पर जाने के बजाय स्कूल भेजते हैं, बाल मजदूरी का मुख्य कारण गरीबी है।
  7. यह उन देशों में होता है जहां बहुत गरीबी और बेरोजगारी बड़ी संख्या में होते है।
  8. कम आयु में उनके साथ क्या हो रहा है इस बात का एहसास करने के लिये बच्चे बेहद छोटे, प्यारे और मासूम होते है।
  9. भारत समेत लगभग सभी विकासशील देश और यहां तक की विकसित देशों में भी आपको बाल श्रम देखने को मिलेगा।
  10. लोगों को अपने कर्मचारियों की उम्र की जांच करनी चाहिए, और कम उम्र के बच्चों को नियुक्त करने के लिए सख्त सजा होनी चाहिए।

10 lines on child labour in hindi

  1. बाल मजदूरी उसे कहा जाता है, जब किसी बच्चे से मजबूरी में या फिर खुदके फायदे के लिए कम आयु में काम कराया जाता है।
  2. जब कभी 14 वर्ष के नीचे के बच्चों से काम कराया जाता है, तो यह कार्य बाल मजदूरी की श्रेणी में आता है।
  3. बाल मजदूरी के कारण बच्चों को शिक्षा प्राप्त करने नहीं मिलते और वह बाकी बच्चों की तरह अपना बचपन माता पिता के प्यार और खुशी में नहीं बिता पाते।
  4. बाल मजदूरी के वजह से बच्चों में शिक्षा का अभाव होता है और इस वजह से बच्चों के साथ कुछ गलत होने पर वही बच्चे गलत मार्ग पर चले जाते हैं, जो कि किसी भी देश और समाज के लिए अच्छा नहीं होता।
  5. बाल मजदूरी हमारे समाज के इतने शिक्षित होने के बावजूद भी पनप रही है, जो प्रति दिन बढ़ते ही जा रही है।
  6. बाल मजदूरी के बढ़ने का कारण मुख्य तौर पर गरीबी है, क्योंकि गरीबी की वजह से बच्चों के माता-पिता अपने बच्चों को शिक्षा देने में असफल रहते हैं और इसी वजह से वह बच्चों से काम करवाते हैं।
  7. बाल मजदूरी के कारण बच्चों में शिक्षा का अभाव तो होता ही है, मगर साथ ही मैं उनके शारीरिक विकास पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है।
  8. बाल मजदूरी आज एक बिजनेस बन गया है, कहीं लोग अनाथ बच्चों को पकड़कर उनसे मजदूरी कराने के लिए उन्हें बेच देते हैं या फिर उनसे भीख मंगवाते हैं।
  9. बाल मजदूरी के पीछे और एक बड़ा कारण है कि बच्चों को मजबूरी की वजह से काम करना पड़ता है, जिस वजह से कुछ लोग अपने फायदे के लिए बच्चों को कम पैसों में काम पर रखते हैं।
  10. बाल मजदूरी हमारे समाज के लिए एक श्राप है, जिसे हमें जड़ से मिटाने की जरूरत है और इसके लिए हम सब को एक होना होगा।

10 lines on child labour hindi

  1. बाल मजदूरी को खत्म करने के लिए वैसे तो सरकार ने कई कानून बनाए हैं, मगर उन कानून पर आज भी अमल नहीं किया जाता।
  2. आज हर कोई अपने जीवन में इतना व्यस्त है कि हमारे आंखों के सामने यह सब होने के बावजूद भी हम उसे अनदेखा करते हैं।
  3. अगर हमें बाल मजदूरी जैसे श्राप को हमारे समाज से नष्ट करना है, तो हमें खुद आगे आना होगा और इसके खिलाफ आवाज उठानी होगी।
  4. बाल मजदूरी एक गंभीर और चिंता का विषय है, इसे कम करने के लिए हमें बच्चों को मुफ्त शिक्षा देनी होगी और उन माता-पिता को भी अपने बच्चों को काम पर ना भेजकर उन्हें उनका बचपन बाकी बच्चों की तरह जीने देना होगा।
  5. बाल मजदूरी हर एक देश की चिंता है और इससे होने वाले नुकसान को सिर्फ उन मजबूर बच्चों को ही झेलना नहीं पड़ता, बल्कि पूरे समाज और पुरे देश को झेलना पड़ता है।
  6. बाल मजदूर की इस स्थिति में सुधार के लिए सरकार ने १९८६ में चाइल्ड लेबर एक्ट बनाया जिसके तहत बाल मजदूरी को एक अपराध माना गया तथा रोजगार पाने की न्यूनतम आयु 14 वर्ष कर दी।
  7. बाल मजदूरी को जड़ से खत्म करने के लिए जरूरी है गरीबी को खत्म करना। और इन बच्चों के लिए दो वक्त का खाना मुफ्त देना।
  8. बचपन तो हर एक बच्चे का जन्मसिद्ध अधिकार है, और उनसे कार्य करवाकर, मजदूरी करवाकर उन्हें उनके बचपन से वंचित करना अपराध है।
  9. छोटे बच्चों को अपने परिवार की आय में जोड़ने के लिए बाल श्रम में शामिल होना पड़ता है ताकि वे दिन में कम से कम दो बार भोजन कर सकें।
  10. 2019 के आंकड़ों के मुताबिक भारत में 5 से 14 साल के 25.96 करोड़ बच्‍चों में से 1.01 करोड़ बच्चे बाल मजदूरी करते हैं।

इन्हें भी पढ़े : –

निष्कर्ष – हमे उम्मीद है आपको आज का आर्टिकल पसंद आया है एसे ही जानकारी से भरे लेख पढने के लिए हमारे साथ बने रहिये गा. दोस्तों आज के लिए इतना ही मिलते है नये लेख में धन्यवाद!

Leave a Comment